कीबोर्ड कितने प्रकार के होते हैं

कीबोर्ड से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी

की-बोर्ड एंट्री

डेटा को को इनपुट करने के सबसे आम तरीकों में से एक है कीबोर्ड के द्वारा डेटा प्रविष्ट करना। जैसा कि अध्याय 5 में उल्लेख किया गया है, कीबोर्ड लोगों द्वारा समझी जाने वाली संख्याओं. अक्षरों और विशेष वर्णों को विद्युत संकेतों में परिवर्तित करता है। इन संकेतों को सिस्टम यूनिट की तरफ भेजा जाता है, जो उस पर कार्यवाही करती है। अधिकांश कीबोर्ड क्वर्टी ( QWERTY) नामक कुजियों की एक व्यवस्था का उपयोग करते हैं। यह नाम उस कीबोर्ड लेआउट को दर्शाता है. जिसमें अक्षर प्रदर्शित करने वाली कुजियों की शीर्ष पंक्ति पर पाये जाने वाले वर्णमाला के पहले छः अक्षरों को लिया गया है।

कीबोर्ड

कीबोर्ड डिजाइन की एक विस्तृत विविधता उपलब्ध है। वे पूर्ण आकार से लेकर छोटे रूप में उपलब्ध हैं और वर्चुअल (आभासी) भी हो सकते हैं वहाँ कीबोर्ड की चार बुनियादी श्रेणियां होती हैं: पारंपरिक,लैपटॉप, वर्चुअल और थंब।

  1. ट्रेडिशनल (पारंपारिक) की-बोर्ड में पूर्ण आकार के कीबोर्ड को डेस्कटॉप और बड़े कंप्यूटर पर व्यापक रूप से इस्तेमाल किया जाता है। मानक अमेरिकी पारंपरिक कीबोर्ड में 101 कुंजियाँ होती है। कुछ पारंपरिक कीबोर्ड में कुछ अतिरिक्त विशेष कुंजियाँ भी शामिल होती हैं। उदाहरण के लिए, विंडोज़ कीबोर्ड जिनमें सीधे प्रारंभ मेनू का उपयोग करने के लिए एक विंडोज़ कुंजी भी शामिल होती है। पारंपरिक कीबोर्ड फंक्शन कुजियाँ, नेविगेशन कुजियाँ और एक न्यूमेरिक कीपैड प्रदान करते हैं। कुछ कुंजियाँ जैसे, कैप्स लॉक कुंजी, टॉगल कुंजियाँ होती हैं। ये कुंजियाँ किसी फीचर को चालू या बंद करती हैं। अन्य कुजियाँ, जैसे कंट्रोल कुंजी, एक संयोजन कुंजी होती है, जो जब किसी अन्य कुंजी के साथ संयोजन में इस्तेमाल की जाती हैं तब कुछ विशिष्ट कार्य करती है।
  2. लैपटॉप की-बोईस-ये कीबोर्ड परपरागत कीबोर्ड की तुलना में छोटे होते हैं और इनका लैपटॉप कंप्यूटर पर व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है। यहाँ कुजियों का सटीक स्थान और उनकी संख्या भिन्न-भिन्न विनिर्माण के बीच भिन्न हो सकती है, वहीं लैपटॉप के कीबोर्ड में आमतौर पर कम कुंजियाँ होती हैं, इनमें एक न्यूमेरिक कीपैड शामिल नहीं होता है और फंक्शन और नेविगेशन कुंजी के लिए एक मानक स्थान नहीं होता है।
  3. वर्चुअल कीबोर्ड-इन कीबोर्ड का मुख्य रूप से मोबाइल उपकरणों और टैबलेट्स के साथ इस्तेमाल किया जाता है। अन्य कीबोर्ड के विपरीत, वर्चुअल कीबोर्ड का एक भौतिक कीबोर्ड नहीं होता है। बल्कि, कुंजियाँ आमतौर पर एक स्क्रीन पर प्रदर्शित की जाती हैं और स्क्रीन पर उनकी इमेज को छूकर उन्हें चुना जाता है।
  4. थंब कीबोर्ड-ये कीबोर्ड स्मार्टफोन और अन्य छोटे मोबाइल उपकरणों पर इस्तेमाल किये जाते हैं। इन्हें मुख्य रूप से टेक्स्टिंग और वेब से जोड़ने के माध्यम से संवाद स्थापित करने के लिए बनाया गया है, ये कीबोर्ड बहुत छोटे होते हैं।

आपकी सुविधा के लिए महत्वपूर्ण टिप्स

क्या आपको किसी डिजिटल कैमरे से अपनी सटार फोटो लेने में कठिनाई आ रही है? क्या आप अपनी तस्वीरों में डिजिटल प्रौद्योगिकी का अधिकाधिक उपयोग करना चाहेंगे? आपकी सहायता के लिए यहा कुछ टिप्स हैं-

  1. बटन और नाँचा उपयोग करने से पहले अपने काम के फुक्शन को जान लें। अधिकतर कैमरों में एक ऑटोमैटिक मोड होता है मगर वह सुनिश्चित कर लें कि आपको फ्लैश ऑन करना, लेस जूम करना और इमेज रि्ोल्पूशन सेट करता ओता है।
  2. फोटोग्राफी संबंधी मूल बातें। कई डिजिटल कैमरों में पीछे की ओर एक एलसीडी स्क्रीन होता है। आप अपने शॉट को अधिक सटीक रूप से निर्धारित करने के लिए इसका प्रयोग कर सकते हैं। यह जान लें कि एलसीडी स्क्रीन का उपयोग करने से बैटरी अधिक खर्च होती है।
  3. रेड-आई रिएक्शन कई डिजिटल कैमरों में रेड आई रिडक्शन फांचर होता है। कम रोशनी में लोगों की तस्वीर लंते समय, आप तस्वीरों में चमकदार लाल आंखों (रेड आई) को आने से रोकने के लिए इस सेटिंग का उपयोग कर सकते हैं। इस फीवर के बारे में और जानकारी के लिए अपना ओनर्स मैनुअल पढ़ें।
  4. धुंधली तस्वीर। फोटो खींचते समय अपने हाथों को किन्नर रखते हुए कैमरे को स्थिरता से पकड़े। कई कमरों में अंतनिर्मित इमेज-स्टैबिलाइजेशन फीचर भी होता है।
Spread the love

Leave a Comment